HOW TO REDUCE ACIDITY IN HINDI | HOME REMEDY TO REDUCE ACIDITY

HOW TO REDUCE ACIDITY / ACIDITY कम कैसे करें?

Acidity यह एक ऐसी समस्या जिससे आज हर उम्र के लोग परेशान है यह एक ऐसी समस्या जिसमें हमारे पेट मे Acid की मात्रा बढ़ जाती है जिसके कारण हमें बहुत सी परेशानियाँ झेलनी पड़ती है।

Acidity से ज्यादातर वो लोग परेशान रहते है जिनका खानपान ठीक ( Food Habbits ) नही है खानपान ठीक न होने से हमारे पेट मे Acid का Secretion ज्यादा होने लगता है और हम Acid की समस्या से ग्रसित हो जाते है, इस समस्या को Gas की समस्या भी कहते हैंयदि एसिडिटी की परेशानी को समय रहते न ठीक किया जाए तो यह Acid हमारे पेट से Esophagus और मुँह तक भी आ जाता है जिसे हम Acid Reflux कहते है।

SYMPTOMS OF ACIDITY IN HINDI

• अधिक गैस बनना

• अधिक ढकारें आना

• पेट दर्द होना

• Chest Pain

• Heartburn

• Bad Breath( मुँह से बदबू आना)

ये तो रहे वो Symptoms जो हमें Acidity होने पर दिखाई देंगे पर अब मन मे सवाल ये आता है की ऐसे कौन से कारण है जिससे Acidity होता है।

How To Reduce Acidity In Hindi

CAUSES OF ACIDITY IN HINDI / एसिडिटी होने के कारण

1) हमारे भोजन करने का समय निर्धारित न होना

2) अत्यधिक तला भुना और मसाले वाले भोजन करना

3) लंबे समय तक भूखा रहना और एक ही समय मे अधिक भोजन (Heavy Meal) कर लेना

4) चाय और कॉफी का अधिक सेवन करना

5) अधिक स्मोकिंग और Alcohal का सेवन करना

6) अधिक दर्दनिवारक दवाइयों या अन्य दवाइयों का सेवन करना।

लोगों मे एसिडिटी की समस्या होने का सबसे बड़ा कारण आज की lifestyle जिसमे न लोगों के पास अच्छा भोजन करने का समय है और न ही अच्छे से भोजन करने का समय है, जिसके कारण लोग आजकल Fast Food, Carbonated Drink और Smoking का सहारा ले रहे है जिससे उन्हे एसिडिटी जैसी समस्या का सामना करना पड़ रहा है ।अगर हम अपने दिनचर्या और खानपान को ठीक कर ले तो हम इस समस्या से बच सकते है, पर अगर यह समस्या लंबे समय से हो तो Doctor की सलाह भी लेनी पड़ सकती है ।

HABBIT TO REDUCE ACIDITY IN HINDI

√ अपने खाना खाने का समय फिक्स करें और उसी समय खाये

√ कभी भी अपने खाने को Skip न करें (Never Skip Meals)

√ तले-भुने और तीखे चीजों का सेवन कम करें

√ Fibre युक्त फलों और सब्जियों का सेवन करें

√ चाय, कॉफी और Carbonated Drinks का सेवन कम करें

√ रात का भोजन सोने से 1-2 घंटे पहले करें

√ भोजन के बाद अगर समय हो तो 10-15 मिनट Walking जरूर करें

How To Reduce Acidity In Hindi

HOME REMEDY TO REDUCE ACIDITY / एसिडिटी कम करने के घरेलू उपाय

हमारे घर मे ही ऐसी बहुत सी चीजें है जिनका सेवन करके हम एसिडिटी की समस्या से निदान पा सकते है।

1) Buttermilk(छांछ)_यह एसिडिटी को कम करने मे बहुत ही कारगर है, इसे भारत मे छाछ नाम से जाना जाता है। छाछ मे Lactic Acid होता है जो पेट मे बनने वाले Acid को Neutralize करता है जिससे एसिडिटी कम होती है।

Buttermilk यानी छाछ गर्मी के दिनों और खाने के बाद पीना भी लाभदायक होता है यह पेट मे ठंडक पहुंचाता है ।

2) FUNNEL(सौंफ)_अक्सर जब कभी हम होटल मे खाना खाने जाते है तो खाने के बाद सौंफ और मिसिरि खाने को दिया जाता है क्युंकि सौंफ हमें एसिडिटी की समस्या से बचाता है। सौंफ एसिडिटी को कम करने मे एक उत्तम उपाय है। जो लोग एसिडिटी से परेशान है वो खाने के बाद सौंफ खाकर एसिडिटी की समस्या से बच सकते हैं ।

3) COCONUT WATER_नारियल पानी हमारे स्वास्थ्य के लिए बहुत ही लाभकारी है। इसका सेवन करने से हम एसिडिटी की परेशानी से भी बच सकते हैनारियल पानी पेट को ठंडक पहुँचाता है साथ ही हमारे पेट Mucus बनाने मे मदद करता है। और Mucus Stomach मे बनने वाले Acid को Neutralize करता है जिससे हमें एसिडिटी मे आराम मिलता है।

Home Remedy To Reduce Acidity

4) BASIL LEAVES(तुलसी)_2-4 तुलसी के पत्तो का सेवन करना एसिडिटी को कम करने के लिए बहुत ही लाभदायक है। इसके पत्तो के सेवन करने से यह तुरंत ही पेट मे ठंडक प्रदान करता है जिससे हमें एसिडिटी मे राहत मिलता है।

5) CHEWING GUMS_वैसे तो आजकल लोग Fashion मे Chewing Gum खाते है, पर Chewing Gum खाना एसिडिटी के लिए भी फायदेमंद है। Chewing Gum खाने से हमारे मुँह मे अधिक Saliva बनता है और यह Saliva Stomach मे जाता है और यह पेट के Acid को Normalise करता है। और इस प्रकार हमें Chewing gum खाने से एसिडिटी कम होता है।इन सबके अलावा भी ऐसे बहुत से चीजें अपने घर मे है जिनका सेवन करके एसिडिटी कम किया जा सकता है,

जैसे 

गुड़

-ठंडा दूध

-अदरक

-Clove

इन चीजों का सेवन करके और अपने lifestyle  मे परिवर्तन करके हम एसिडिटी की समस्या से पार पा सकते है ।

FAQ

ज्यादा एसिडिटी होने पर क्या करें?

ज्यादा एसिडिटी होने पर अधिक देर खाली पेट न रहें थोड़े थोड़े अंतराल पर कुछ न कुछ खाते रहे । साथ ही छाछ, सौंफ, गुड आदि का भी सेवन करें।

एसिड बनने के क्या लक्षण है?

अधिक ढकार आना
मिचलाहट होना
पेट दर्द होना
Chest Pain होना

About Abhishek

Abhishek Is Pharmacy Graduate Who Very Passinate About The Blogging. Hel Love To Gain The Information and Share with The People In Easy Manner. His Hobbies Is Reading Books And Listening Music. Pharmacist By Profession Blogger By Passion Health is Everything.

Check Also

CPR ऐसा मेडिकल टेकनीक् जिससे आप किसी की जान भी बचा सकते हैं

What Is CPR In Hindi / CPR Kya Hai? CPR यह एक इमर्जेंसी मे काम …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Best Healthy Drinks For Winter 5 ORAL CARE TIPS TO KEEP YOUR TEETH HEALTHY AND STRONG 5 AMAZING HEALTH BENEFITS OF KIWI FRUITS Know 5 Apple Cider Vinegar Benefits For Your Health Top 5 Best Memory Booster Foods