CPR ऐसा मेडिकल टेकनीक् जिससे आप किसी की जान भी बचा सकते हैं

What Is CPR In Hindi / CPR Kya Hai?

CPR यह एक इमर्जेंसी मे काम आने वाली मेडिकल टैकनिक है जिसका सही समय पर उपयोग करके हम किसी व्यक्ति की जान भी बचा सकते हैं। CPR से किसी व्यक्ति की सांस या दिल की धड़कन रुक जाने पर इससे उस व्यक्ति की जान भी बचा सकते है।

जब किसी व्यक्ति का दिल धड़कना बंद कर देता है, तो उसे Cardiac Arrest होता है। Cardiac Arrest के दौरान, Heart Brain और Lungs सहित शरीर के बाकी हिस्सों में खून पंप नहीं कर सकता है।

Cardiac Arrest के दौरान उपचार के बिना मृत्यु मिनटों में हो सकती है। सीपीआर में मरीज की छाती पर दबाव बनाया जाता है जिससे ब्लड फ्लो को बेहतर बनाने में मदद मिल सकती है। और व्यक्ति की जान भी बचाई जा सकता है।

CPR Full Forms

Cardio Pulmonary Resuscitation

CPR कब देना चाहिए?

CPR Technique का उपयोग ज्यादातर Emergency मे किया जाता है जिसमे व्यक्ति के शरीर मे अच्छी तरह से ब्लड Circulation नही हो पाता जिससे व्यक्ति के Cells को Oxygen नही मिल पाता जिससे कुछ ही समय मे Brain को भी Oxygen नही मिल पाता जिससे व्यक्ति की मौत भी हो सकती है।

ऐसे बहुत से Situation होते है जहाँ CPR का उपयोग किया जाता है जैसे,

• Cardiac Arrest होने पर

• बेहोश हो जाने पर

• Current लगने पर

• डूबने पर आया सांस लेने की समस्या होने पर

How To Do CPR In Hindi

CPR कैसे दें / How To Do CPR In Hindi

• सबसे पहले किसी व्यक्ति को 108 पर Call कर एंबुलेंस को बुलाने के लिए कहें

• व्यक्ति को उसके पीठ के बल किसी समतल जगह पर लिटाये।

• व्यक्ति के मुँह को खोले और देखें व्यक्ति सांस ले रहा है या नही ।

• अगर सांस नही चल रही तो CPR Start करें।

• व्यक्ति के कन्धों के पास घुटनों के बल बैठ जाएं।

• अपनी एक हाथ की हथेली को व्यक्ति की छाती के बीच में रखें। दूसरे हाथ की हथेली को पहले हाथ की हथेली के ऊपर रखें। अपनी कोहनी को सीधा रखें और कन्धों को व्यक्ति के की छाती के ऊपर सिधाई में रखें।

• अपने ऊपर के शरीर के वजन का इस्तेमाल करते हुए व्यक्ति की छाती को कम से कम 2 इंच और ज़्यादा से ज़्यादा 2.5 इंच तक दबाएं और छोड़ें। एक मिनट में 100 से 120 बार ऐसा करें।

• इसके बाद मुँह से भी व्यक्ति को सांस दे सकते हैं।

• यह CPR तब तक करते रहे जब तक एंबुलेंस न आ जाए।

और जाने How to Use Glucometer at Home

CPR देने के दौरान किन बातों का ध्यान रखें?

• CPR देने के दौरान अपने कोहनी और हाथों को सीधा रखें।

• जिसे CPR दें रहे है उस व्यक्ति को पीठ के बल लिटाकर दें।

• Patient के शरीर को सीधा रखे उसके हाथ और पैर नही मुड़े होने चाहिए।

• एंबुलेंस को भी जरूर Call करना न भूलें।

• Mouth to Mouth Oxygen Supply अच्छे से करें।

सीपीआर कौन सी जगह से दिया जाता है?

सीपीआर छाती से दिया जाता है इसमे व्यक्ति के छाती को कम से कम 100-110 बार दबाया जाता है जिससे की व्यक्ति का Circulation ठीक हो जाता है। जिससे व्यक्ति की जान बच सकती है।

इसके अलावा आप व्यक्ति को मुँह से भी सांस दे सकते हैं।

How To Do CPR

Conclusion

CPR यह एक बहुत ही आसान तरीका है जिसे आप सिख कर आप किसी व्यक्ति की जान भी बचा सकते है तो आप CPR Technique जरूर सिखे। और समय पड़ने पर इसका उपयोग करें और जीवनदाता बनें।

जानें How To Make First Aid Kit For Home?

FAQs

सीपीआर कौन सी जगह से दिया जाता है?

CPR देने के लिए आपको व्यक्ति के Chest पर Compression करें और मुँह से भी Oxygen दे सकते हैं।

CPR कब करना चाहिए ?

CPR तब करना चाहिए जब कोई व्यक्ति सांस लेने मे सक्षम न हों, उसे Current लगा हो या उसे Cardiac Arrest हुआ हो।

About Abhishek

Abhishek Is Pharmacy Graduate Who Very Passinate About The Blogging. Hel Love To Gain The Information and Share with The People In Easy Manner. His Hobbies Is Reading Books And Listening Music. Pharmacist By Profession Blogger By Passion Health is Everything.

Check Also

जंक फूड खाना हो सकता है खतरनाक जानें, Disadvantage Of Eating Junk Food

अगर आज आप किसी के सामने खाने मे 2 Options रखे एक मे हो Fruit …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Best Healthy Drinks For Winter 5 ORAL CARE TIPS TO KEEP YOUR TEETH HEALTHY AND STRONG 5 AMAZING HEALTH BENEFITS OF KIWI FRUITS Know 5 Apple Cider Vinegar Benefits For Your Health Top 5 Best Memory Booster Foods